मुंबई में चार्टर्ड प्लेन क्रैश पांच लोगों की हुई मौत,

गुरुवार दोपहर करीब 1:30 बजे मुंबई के रिहायशी इलाके सर्वोदय नगर में एक चार्टर्ड विमान क्रैश हो गया। इस हादसे में पांच लोगों की मौत हुई। चार्टर्ड विमान क्रैश होने के बाद पहले ये विमान सड़क पर गिरा उसके बाद निर्माणाधीन बिल्डिंग से जाकर टकरा गया। प्लेन के बिल्डिंग से टकराने तुरंत बाद बिल्डिंग में भीषड़ आग लग गई।

आगरा : महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में आज दोपहर बेहद दुखद हादसा हुआ है। एक चार्टर्ड प्लेन मुंबई के घटकोपर इलाके में हादसे का शिकार हो गया इस हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में पायलट मारिया कुबेर, को-पायलट प्रदीप राजपूत, एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियर मनीष पांडे और सुरभि शामिल हैं। इतना ही नहीं प्लेन में सवार लोगो के साथ एक राहगीर गोविंद पंडित की भी मौत हुई है। जिस जगह हादसा वहां पर फायर ब्रिगेड और पुलिस की टीम तैनात है। प्लेन क्रैश हादसे के बाद राहत एवं बचाव कार्य बहुत तेजी से हो रहा है। आपको बता दें कि विमान के उड़ान भरने से पहले पूजा भी की गई थी. प्लेन के पहले पहिये के आगे नारियल भी फोड़ा गया था।

किस तरह हुआ हादसा

आपको बता से कि चार्टर्ड प्लेन ने परीक्षण के लिए जुहू एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी और प्लेन को मुंबई एयरपोर्ट पर उतरना था। सूत्रों ज्ञात हुआ है कि लैंडिग से कुछ समय पहले ही प्लेन घाटकोपर के सर्वोदय नगर स्थित रिहायशी इलाके में क्रैश कर गया। प्लेन भयानक तरीके से क्रैश हुआ की पहले सड़क पर गिरा उसके बाद फिसलते हुए एक निर्माणाधीन बिल्डिंग से जाकर टकरा गया।
आपको बता दें कि हादसे के दौरान पायलट मारिया कुबेर ने बड़ी समझदारी से काम लिया और प्लेन को सघन आबादी वाले इलाके में भी खाली जगह में लैंड करने की कोशिश की। बताया जा रहा है कि पायलट मारिया कुबेर & मुंबई पायलट प्रदीप राजपूत दिल्ली के रहने वाले हैं। ये हादसा इतना भयंकर था अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल है।

हादसे के बाद प्लेन का ब्लैक बॉक्स मिला

दुर्घटना के बाद बहेद सघन तालाशी अभियान चलाया उसके बाद क्रैश हुए चार्टर्ड प्लेन का ब्लैक बॉक्स मिला है। बताया जा रहा है कि इस ब्लैक बॉक्स से ही हादसे की मुख्य वजह पता लगाया जायेगा। आपको शायद पता न हो कि ब्लैक बॉक्स को तकनीकि भाषा में फ्लाट डाटा रिकॉर्डर भी कहा जाता है। जिस वक़्त ये हादसा उस वक़्त के आखिरी पलों का डाटा बॉक्स में रिकॉर्ड हो जाता है। इस बॉक्स में पायलट की एटीसी से की गई बातचीत, प्लेन के अंदर की आवाजें, अलार्म सभी कुछ रिकॉर्ड होता है। इसमें कॉकपिट एरिया में हुई बातचीत भी रिकॉर्ड होती है इसका नाम केवल ब्लैक बॉक्स होता है लेकिन असल में इस बॉक्स का रंग नारंगी होता है।इस बॉक्स को हादसे में भी कोई हानि नहीं होती क्योंकि ये बॉक्स बहुत ही मजबूत सामान से बना होता है।

उत्तर प्रदेश सरकार का था ये प्लेन

दो इंजन वाले इस प्लेन का निर्माण साल 1995 में हुआ था। घाटकोपर में क्रैश होने वाला चार्टर्ड प्लेन बीन क्राफ्ट किंग एयर सी-90 टर्बोकॉप है। इस विमान की क्षमता 12 लोगों की है लेकिन आज इसमें सिर्फ चार लोग ही सवार थे। आपको बता दें कि यह विमान पहले उत्तर प्रदेश सरकार की सेवा में था लेकिन साल 2014 में यूपी सरकार ने इसे मुंबई की यूवाय एविएशन कंपनी को बेंच दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *