देश के जाबांज जवानों ने किया हवा में योग

आज भारत के साथ-साथ पूरे विश्व में 4th अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस मनाया जा रहा है. इस मौके पर पीएम से लेकर आम इंसान तक सभी ने किया योग. इसकी शुरुआत चार साल पहले पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में इसकी एक पेशकश की थी जिसमे लगभग 160 देशों ने इसका सर्मथन किया था जिसके बाद  पहली बार 21 जून, 2015 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया था. इस मौके पर देश के जाबांज जवानों ने पहाड़,जहाज,पानी से लेकर हवा तक योग किया.अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस  मौके पर हर तरफ योग की गूंज सुनाई दी. हिमाचल प्रदेश के रोहतांग दर्रे में जहां सांस लेना भी मुश्किल होता है.वहां भी ITBP के जवानों ने योग किया।

INS विराट पर नौसेना जवानों ने किया योग

मुंबई के समुद्र तट पर खड़े INS विराट पर नौसेना के एक हजार से ज्यादा जवान और उनके परिवार वालों ने योग किया.वही इस योग दिवस के मौके पर भारतीय वायुसेना के जवान भी पीछे नहीं रहे.और उन्होंने आसमान में 15 हजार की फीट की ऊंचाई पर योग करके सबको चौंका दिया.

सीएम योगी ने भगवा टी-शर्ट में किया योग

तो वही 4th अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके यूपी की राजधानी लखनऊ में भी जगह जगह पर योग कार्यक्रम किए गए। जिसमे सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहली बार भगवा टी-शर्ट में गृहमंत्री राजनाथ सिंह और राज्यपाल राम नाईक ने के साथ योग करते नजर आये.इस योग कार्यकम के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी देशवासियों को 4th अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं दीं। और साथ ही जीवन में योग के महत्व को बताते हुए योगी ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों के कारण ही दुनिया में योग को मान्यता मिली है। और योग को करने से आम जनमानस बीमारियों बच सकता है और बीमारियों पर खर्च होने वाले अपने पैसे को बचा सकता है।
योगी ने कहा, जीवन में कठिन चुनौतियों से लड़ने के लिए   योग करना जरुरी है क्योंकि अगर हम योग करेंगे तो स्वस्थ रहेंगे और अगर स्वस्थ रहेंगे तो हर चुनौती का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहेंगे।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा

वही गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि योग को आज इन्टरनेशनल फेस्टिवल के रूप में मनाया जा रहा है जो पीएम मोदी के प्रयासों से ये संभव हो पाया है। और आज उनकी ही बदौलत से दुनिया के 191 देशों में योग किया जा है। वही इस योग को अमेरिका जैसे शक्तिशाली और धनी देश में एक लाइफस्टाइल के रूप में अपनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *